प्रदूषण व गंदगी के चलते सैकड़ों जैन तीर्थयात्री बीमार

झारखंड। जैनियों के प्रसिद्ध तीर्थ स्थल मधुबन (पारसनाथ) में सैकड़ों तीर्थयात्री बीमार पड़ गए हैं। सभी तीर्थयात्री महाराष्ट्र और कर्नाटक के हैं, जो पारसनाथ दशलक्षण महापर्व में भाग लेने आए हैं। बीमारी का कारण गंदगी, प्रदूषण और अशुद्ध पानी बताया जा रहा है।
इस समय जैनियों का महापर्व दशलक्षण चल रहा है। इसमें विशेषकर महाराष्ट्र और कर्नाटक के सैकड़ों तीर्थयात्री पहुंचे हैं। पिछले कई दिनों से फैले वायरल बुखार, मलेरिया, दस्त आदि बीमारियों के चलते तीर्थयात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। तीर्थयात्रियों का इलाज मधुबन स्थित सेवायतन, श्रमजीवी, दिगम्बर जैन इत्यादि अस्पतालों में चल रहा है।
श्रमजीवी अस्पताल के आंकड़ों की मानें तो मंगलवार को महाराष्ट्र, कर्नाटक और मध्य प्रदेश के लोग इलाज के लिए पहुंचे। जबलपुर के प्रेमचंद जैन, महाराष्ट्र के भरतेश जैन सहित निधि जैन, तनिष्क जैन, दीया जैन, मनीषा जैन के अलावा विभिन्न प्रांतों के 53 लोग अपना इलाज करवा चुके हैं। सभी तीर्थयात्री बुखार, मलेरिया व लूज मोशन से पीडि़त बताए जा रहे हैं। फिलहाल बीमारियों से बचने के लिए साफ-सफाई और खानपान पर ध्यान देने को कहा जा रहा है।